5.Global Media House

आपकी आवाज़ मीडियाँ फाउंडेशन

मीडिया हाउस का उद्देश्यः देश-विदेश की विशेषकर गरीबों-अल्पसंख्यकों-दलितों की, जिनकी मौजूदा सिस्टम नज़र अंदाज़ करता है कि ख़बर प्रकाशित करने के अलावा सेकुलर, सच्चे इंसाफ-अमन पसंद लोगों के विचारों, प्रयत्नों व कार्यो को देश-विदेश के लाखों-करोड़ों लोगों पहुँचा कर देश के विकाश व उन्नति में योगदान देना है।

मीडिया हाउस क्यों? मीडिया के महत्व, फायदों और प्रभाव से सभी अच्छी तरह से परिचित है। लोकतंत्र  में जनमानस तैयार करने का मीडिया सर्वाधिकार महत्वपूर्ण हथियार है,  लोकतंत्र के सभी प्रमुख स्तंभ पर मीडिया ही सीधी निगाह ऱखता और सरकारों के नीतियों पर नकेल लगाने, प्रशासन की मनमानी, भष्ट्राचार व गलत नीतियों को रोकने व न्यायपालिका को भी सच्चाई से परिचित कराने में महत्वपूर्ण रोल और अच्छें कार्यो के लिए प्रोत्साहित व मार्गदर्शन  करता है अर्थात जीवन के सभी क्षेत्र में मीडिया का अहमतरीन और बुनियादी महत्वपूर्ण रोल है। लेकिन ये भी सही है कि मीडिया जैसे महत्वपूर्म हथियार देश के गिनती के लोग ही हाथों मे ही है और देश के दलित, अल्पसंख्यक व पिछड़े वर्ग आदि को लगभग इससे वंचित रखा गया है और मुख्यधारा की मीडिया उनकी समस्याओं को पूरी तरह से नज़रअंदाज करते है या उनकी ज्यादातर कमियों के तिल को ताड़ बनाकर सोची समझी साजिश के तहत दिखाता रहता है, गुड मुस्लिम और बैड मुस्लिमों आदि जैसो में कौमों को विभाजित किया गया, बिकाऊ व शरारती तत्वों की खबरो को महत्व देकर तरह- तरह के ग्रुपो, वर्गो व श्रेणियों में विभाजित किया गया ताकि उनमें एकता, विश्वास, अधिकार, उन्नति व समानता जैसी मूलभूत अधिकारों व सुविधायें को हासिल करने के बजाये खुद की समस्यायों में बँटे और उलझे रहे। कुछ लोगों की गलतियों को लेकर पूरी कौमों को बदनाम करने के लिए कौन जिम्मेदार है? हम आह भी करते है तो हो जाते है बदनाम..और वो कत्ल भी करते है तो चर्चा नहीं होती है। संक्षेप में एक वर्ग जाल बुनता है और मीडिया लोगों को उसमें फँसाने का काम करती है। इसलिए समय रहते अगर इन हालात को बेहतर बनाने की कोशिश नही की गई ये दोष हमारी अपनी होगी, क्योंकि हमारे पास सबकुछ है और अगर नही है तो सिर्फ इच्छा शक्ती की।

मीडियाँ हाउस बनाने में हमारी तैय्यारियाँः

  • नेट मीडियाँ व हमः aapkiawaz.com – विश्वविख्यात न्यूज पोर्टल 15 वर्षों से सतत अपने लक्ष्य को प्राप्त करनें में प्रयासरत है। हाईली टेकनिकल,  52 भाषाओं में आटोमेटिक अनुवाद व टीवी चैनेल की तरह कार्य जैसी विशेषताओँ को पूरी कामयाबी के साथ चलाया जा रहा है, दुनियाँ भर में लाखों लोगों तक पहुँचाने वाली इन खबरों की वजह से बहुत बड़ी-बड़ी कामयाबियाँ भी मिली है.। आज भी दिन रात मीडिया हाउस को बेहतर बनाने और दुनिया भर में ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुँचाने की कोशिश जारी है।
  • Social Media और हम: सोशल मीडियाँ पर  100 से अधिक ग्रुपो प्रोफाईलोंं व पेज पर लाखों देश के प्रमुख लोगो को शामिल किया गया है। साथ बी हजारों ग्रुपो व पेजो के एडमिनो का फेडरेशन ट्युटर आदि पर न सिर्फ रात-दिन काम चलाया जा रहा है बल्कि  100 से अधिक देश-विदेश के महत्वपूर्ण विचारको व अच्छे लोगों के अपने पैनेल में शामिल किया गया है।
  • प्रिंट मीडिया और हमः देश-विदेश में अनको भाषाओं में लाखों पत्र-पत्रिकाये व पोर्टल आदि है, और ये अरबो-खरबो़ रूपये का नेटवर्क है, जो देश व समाज को दिशा देने में योगदान दे रह है और इनमें से ज्यादातर को सच्ची व अच्छी खबर व लेख की जरूरत होती है। इसलिए हम अपने देश-विदेश के नेटवर्क के जरियें अच्छे व इंसाफ पसंद खबरो़ं  व विचारो को उन तक पहुँचाने का काम न्यूज सर्विस के जरिये सतत प्रयास कर रहे है। अभी तक लगभग 11000 अखबारात, मैगजीन व पोर्टलो आदि की पहँचान का काम पूरा कर लिया गया है। इस कार्य के लिए प्रेस काँफ्रेस आदि का भी सहयोग लिया जायेगा।
  • टीवी व इलेक्ट्रनिक मीडिया और हमः ये खबरों प्रचारित व प्रसारित करने व लोगो में विश्वास पैदा कराने वाला सबसे सशक्त माध्यम है। इस माध्यम को पूरी तरह से अपने हक़ में इस्तेमाल करने के लिए अपना सर्वर, कैमरे व रेकार्डिग स्टूडियो आदि के इतंजाम कुछ हो गया है और कुछ पर काम चल रहा है। इसके लिए हम जल्द ही हम देश भर से किसी भी विषय पर ग्रुप बहस, ओपीनियन पोल, टेलीफोनिक सवालों व आम जनता की राय जानने का सिलसिला शूरूआत कर दी गई है  साथ ही इस Video अपने सर्वर के अलावा यू-टयूब के जरिये भी दुनियाँ भऱ तक पहुँचाने की कोशिश करेगे।

खुशी की बात ये है कि इस समय भी मुझे देशभर से अच्छी राय व सहयोग की बाते लगातार आ रही है।