सामाजिक समाधानः ग्लोबल मीडिया हाउस

आपकी आवाज़.काम-ग्लोबल मीडिया हाउस की स्थापना का मुख्य उद्देश्य देशवासियों खासकर मुसलमानों-दलितों में सियासी इत्तहाद, मीडियाँ, समाजिक, ई-लाईब्रेरी आफ रिलीजंस, आर्थिक, कानूनी, स्वास्थ, व्यापारिक आदि से संबंधित  खबरों, मसायल व मुफीद तरीन प्रोजेक्टो को प्रकाशित करके चौतरफा दीन-दुनियाँ की तरक्की, शान्ति व कामयाबी दिलाया जा सके।

 

क्योकि हर शख्स जो कुछ सुनता-देखता-समझता है उसी के मुताबिक अमल करता है, लेकिन एक तो अधिकतम जनता अशिक्षित या व्यस्त होने की वजह में अवाम में माहिरीन, तजुर्बेकारों या तंजीमों से नही पहुँच पाती है. साथ ही शर्म की बात है कि मुल्क की दूसरी सबसे बड़ी आबादी वाली कौम के पास न कोई कारगर तंजीम, न अखबार, न चैनेल, न अच्छे इदारे है। इन्ही हालात को बेहतर बनाने की बे-मिसाल  बेहद संजीदा, पारदर्शी व ईमानदाराना कोशिश इस प्रकार हैः

 

शार्ट टर्म प्रोग्रामः

लगभग 10 वर्षों से न्यूज़ पोर्टल, न्यूज़ सर्विस, न्यूज़ चैनेल(यू ट्यूब) और सोशल मीडियाँ पर काम चल रहा है और कम से कम 10 करोड़ देश-विदेश तक अपनी बात एक दिन में पहुँचाने का लक्ष्य रखा गया है। सारी तैयारी हो चुकी है, बस बाकायदा स्टाफ की मदद मिलते ही ये संभव हो जायेगा।

 

लाँग टर्म प्रोग्रामः

  1. देश में दानिश्वरों, बेदार, ईमानदार सेकुलर शख्सियतों को हजारों की तादाद में मेहमान एडीटर, नेशनल एडवाईजरी व बोर्ड आंफ मैनेजमेंट में शामिल किया जायेगा..ताकि किसी भी अहम इशू पर उनके लेखो, जानकारी में आये लेखो-विडियों या फोन पर उनकी राय लेकर दुनियाँ वालों तक पहुँचाया जा सकता है।
  2. देश की प्रमुख पार्टियों व नेताओं के कार्यों का लेखा जोखा रिपोर्ट कार्ड के जरियें मय सुबूतों के एक जगह जमा की जायेगी..ताकि अपने नेटवर्क के जरियें घर-घर तक बात पहुंचायी जा सके और चुनावों के समय जनता को “किसे वोट दे या किसे न दे..और क्युँ” के बारे में फैसला लेना आसान हो जायेगा।
  3. सोशल मीडियाँ-फेसबुक, टयूटर, वाट्सअप आदि के जरियें देश-विदेश के कोने-कोने से संजीदा लोगो को सोशल पत्रकार का दर्जा देकर किसी भी खबर की आडियों-विडियों हासिल की जा सकती है। गत 5 सालों में देशभर के 52000 से ज्यादा लोगों से बात करने के बाद देशभर में अच्छे लोगों की पहँचान का काम कर लिया गया है।
  4. उर्दू व प्रदेशिक छोटे अखबारात की अहम खबरों को ट्रास्लेशन कराकर न्यूज़ सर्विस के जरियें मुखतलिफ जुबानों में दुनियाँ भर में भेजा जा सकेगा।
  5. फिलहाल तो इंटरव्यु व विडियों आदि को रिकार्डिग करके यु टयूब के जरियें चैनेल की तरह इस्तेमाल कर सकते है, और आगे चलकर किसी भी चैनेल से समय खरीदकर या अपना बाकायदा चैनेल बनाने की कोशिश जारी रखी जायेगी। जमाँ फंड के मुताबिक ही अपनी जमीन-बिल्डिंग, कैमरे, स्टाफ, वाहन आदि हो या किराये पर लिया जाये या इसका फैसला किया जा सकेगा।

इसके अलावा वो सबकुछ जो मुल्क व मिल्लत के हक में आप हजरात का मशवरा होगा। आपसे भी दोवा व सहयोग की अपील है-शुक्रिया।

किसी भी तरह की जानकारी या सदस्य बनने के लिए WhatsApp/Missed Call/ IMO @09213344558,Visit @Web/Fb/Twi: AapkiAwaz.Com. या http://www.aapkiawaz.com/contact-us/ पर संपर्क कर सकते है- शुक्रिया।